Print Good Work 15 Oct 2021

थाना पटेलनगर पर वादी श्री मनीश तोमर पुत्र कृष्णपाल सिंह तोमर जीएमएस रोड हरीपुर कांवली थाना पटेलनगर देहरादन ने थाने पर आकर एक प्रार्थना पत्र उनके पिता श्री कृष्णपाल की गोरखपुर तिराहा बडोवाला स्थित दकान के गोदाम में अज्ञात व्यक्ति द्वारा सिर पर भारी ठोस वस्तु से लगातार हमला कर गंभीर रूप से घायल कर बेहोश करने व उनके गल्ले व जेब में रखे रूपयों को लूटकर ले जाने के सम्बन्ध में दिया । जिस पर तत्काल थाना पटेलनगर पर मु0अ0सं0 533/21 धारा 394 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत कर विवेचना व0उ0नि0 श्री कुन्दन राम के सुपुर्द की गयी । घायल श्री कृष्णपाल सिंह तोमर को उनके परिजनों द्वारा उपचार हेतु सिनर्जी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वृद्ध व्यापारी के साथ घटित इस जघन्य घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी सदर सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी सदर को अज्ञात व्यक्ति द्वारा कारित जघन्य अपराध के शीघ्र अनावरण हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी सदर के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर के नेतृत्व में टीम गठित की गयी। पुलिस टीम द्वारा की गयी कार्यवाही:- पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल गोरखपुर तिराहा बडोवाला स्थित दुकान का निरीक्षण किया गया । घटनास्थल से घटना में प्रयुक्त लोहे का 5 किलो वजनी दुर्मुट, खून लगी लकडी, खून आलूदा मिट्टी व डीवीआर कब्जे पुलिस लिया गया । घटनास्थल दकान व गोदाम के अन्दर 04 सीसीटीवी कैमरे व रिकार्डिंग हेतु 01 डीवीआर प्राप्त हुआ, जिसकी सीसीटीवी फुटेज को चैक करने पर पाया गया कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा वृद्ध व्यक्ति कृष्णपाल सिंह तोमर के सिर पर दुकान के गोदाम के अन्दर जाकर लगातार लोहे की दर्मुट से हमला कर अधमरा कर लूट की गयी है तथा वहां से फरार हो गया है। पुलिस टीम द्वारा सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अभियुक्त का हुलिया व सीसीटीवी रिकार्डिंग को आसपास के सभी इलाकों में आम जनता को दिखाकर शिनाख्त करायी गयी एवं संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गयी। पूर्व में चोरी, लूट, डकैती में प्रकाश में आये अभियुक्तगणों का सत्यापन किया गया। घटनास्थल से प्राप्त सीसीटीवी रिकार्डिंग के आधार पर कडी मेहनत के पश्चात अभियुक्त की शिनाख्त विवेक पंवार उर्फ नट्ट पुत्र स्व0 वीरसिह पंवार निवासी तेलपुर थाना पटेलनगर जनपद देहरादून के रूप मे हुई। जिसकी गिरफ्तारी हेतु अभियुक्त के घर, उसके रिश्तेदारों, जान-पहचान वालों व मित्रों के यहां दबिश दी गयी किन्तु अभियुक्त का लगातार फरार होना पाया गया। अभियुक्त के बारे में जानकारी करने पर पाया गया कि अभियुक्त नशे का आदी है, जिसे घर से 1 वर्ष पूर्व ही निकाल दिया गया था। अभियुक्त खाना बदोश की तरह जीवन यापन कर रहा था। जो रात में अलग-अलग जगहों पर खाली पड़े गांव के स्कूलों, खण्डरों, घरों में सोता था। दिनांक 18-10-21 को घायल श्री कृष्णपाल सिंह तोमर की दौराने उपचार सिनर्जी अस्पताल में मृत्यु हो गयी जिस पर मृतक का पंचायतनामा कर पोस्टमार्टम कराया गया । मुकदमे में अभियुक्त के विरूद्ध धारा 397/302 भादवि की बढोतरी की गयी । पलिस टीम द्वारा लगातार घटना स्थल के आसपास व अन्य संभावित स्थानों पर सीसीटीवी फुटेज चैक किये गये। जिसमें अभियुक्त लगातार अपना हुलिया बदलकर इधर-उधर छिपता रहा और अपना स्थान बदलता रहा । पुलिस टीम द्वारा सीसीटीवी कैमरो को लगातार चैक करते हुये अभियुक्त का पीछा करते हुए दिनांक 19-10-21 को अभियुक्त विवेक पंवार उर्फ नट्ट को टी-स्टेट प्रेमनगर जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार किया गया। पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस टीम की सराहना करते हुये नगद पुरुस्कार की घोषणा की गयी। पूछताछ का विवरण:- अभियुक्त विवेक पंवार उर्फ नट्ट ने पूछताछ में बताया कि मैं 08 वीं कक्षा पास हूँ, मेरी उम्र-24 वर्ष है । मेरे घर में मेरी बूढी दादी व एक छोटा भाई है। मेरी माता ने सहारनपुर में दूसरा विवाह कर लिया था तथा मेरे पिता का 10 11 वर्ष पूर्व देहान्त हो गया था। मैंने 02 वर्ष पूर्व ऋषिकेश में वैल्डिंग का काम सीखा था जिसके पश्चात मैं ऋषिकेश व अपने घर के आसपास वैल्डिंग का काम करता था। ऋषिकेश में वैल्डिंग का काम सीखते हुये मेरी दोस्ती कुछ लडको से हो गयी थी जिनके साथ रहते हुये मैं स्मैक का नशा करना सीख गया था। जिसके चलते मैं नशे का आदी हो गया हूँ। मैं नशे के बिना नही रह पाता हूँ। मैं अकसर वैल्डिंग का सामान लेने श्री कृष्णपाल सिंह तोमर की दुकान बडोवाला पर जाया करता था। कृष्णपाल सिंह तोमर मुझे अच्छी तरह जानते पहचानते थे मुझे जानकारी थी कि कृष्णपाल सिंह तोमर काफी वृद्व है और दुकान में अकेले रहते है तथा दुकान के अन्दर ही सामान का गोदाम भी है। दिनांक 15-10-21 को मुझे नशे की लत के कारण बहुत ज्यादा तलब लग रही थी और मुझे हर हाल में नशा करना था मेरे पास नशा खरीदने के लिए रूपये नही थे। जिस कारण मैं दोपहर बाद समय करीब 02.30 बजे श्री कृष्णपाल सिंह तोमर की दुकान पर आया और उनकी हत्या कर लूट करने के इरादे से उनसे वैल्डिंग के सामान लेने की बात कर उन्हें पीछे गोदाम मे ले गया और दुकान के अन्दर रखे लोहे के भारी दुर्मुट से उनके सिर पर लगातार वार कर उनकी जेब में रखे 1500/-रूपये व गल्ले में रखे 3000/-रूपये लूटकर ले गया। जिसके पश्चात मैं अलग-अलग स्थानो पर छिपता रहा। आज मैं देहरादून से बाहर सहारनपुर जाने के लिए निकल रहा था पुलिस ने पकड लिया।

Published On: 15-10-2021