Print Good Work 06 june 2021

02 माह पूर्व युवती की हत्या कर शव को किमाड़ी के जंगलों में छुपाने वाला अभियुक्त गिरफ्तार, अभियुक्त की निशानदेही पर युवती का शव बरामद


थाना राजपुर 26.06.2021   थाना कोतवाली नगर देहरादून पर श्री हलधर मुखर्जी निवासी क्वार्टर नम्बर 04-2 छोरा अस्पताल, बहला पुलिस स्टेषन अंडाल वर्थमन, पश्चिम बंगाल ने एक शिकायती प्रार्थना दिया गया, जिसमें शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया कि उनकी लड़की निवेदिता मुखर्जी पहले ल्लि में नौकरी करती थी और बाद में वह जाखन देहरादून आ गर्यी निवेदिता मुर्ख्जी अक्टूबर 2020 में अंकित कुमार के सम्पर्क में आयी तथा देहरादून में मेरी पुत्री निशा गहलोत 348 चुक्खु मोहला नैशविला रोड देहरादून के यहाँ पेइंग गेस्ट हाडस में रहती थी। अंकित चौधरी पुत्र जगपाल चौधरी, फन्दपुरी, सहारनपुर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है और वह देहरादून में मैटेरियल सप्लाई व ऑलाईन नौकरी का कार्य  करता है। अंकित कुमार के साथ मेरी पुत्री प्रेम सम्बन्ध में थी तथा वह उससे शादी करना चाहती थी व लगातार अंकित कुमार के सम्पर्क में थी। मेरी पुत्री निवेदिता की उसकी माता से अंतिम बार बात दिनांक 28.04.2021 को हुई थी तथा उसके बाद हमारी पुत्री का हमसे कोई सम्पर्क नहीं हुआ। इतने लंबे समय तक मेरी पुत्री से कोई सम्पर्क स्थापित न होने की स्थिति में मेरा परिवार बहुत चिन्तित रहने लगा और लगातार उससे सम्पर्क करने का प्रयास करता रहा, काफी प्रयास करने के बाद मेरे परिवार का मेरी पुत्री के प्रेमी अंकित कुमार से फेसबुक पर सम्पर्क हुआ और जब मेरे परविर ने उससे निवेदिता के सम्बन्ध में जानकारी मांगी तो उसने बताया कि उसकी मृत्यु हो चुकी है, यह सुनकार हमारे होश उड़ गये। अंकित ने बताया कि निवेदिता को सिर में दर्द रहता था तथा वह तनाव में थी, एक दिन अचानक वह फ्लैट से गिर गई। और उसकी मृत्यु हो गयी। जब मेरे परिवार ने अंकित से पूछा कि इस घटना के बाद आपने हमें अैर पुलिस को त्वरित सूचना क्यों नहीं दी और गहरे सदमें में था। इसलिए पुलिस और परिवार को सूचना नहीं दी। अंकित ने यह भी बताया कि उसने निवेदिता की मृत्यु के बाद स्वयं ही उसका अन्तिम संस्कार कर दिया। मेरी पुत्री निवेदिता मुखर्जी चुक्खु मोहल्ला देहरादून में पेइंग गेस्ट के रूप में रह रही थी वहां से जनवरी 2021 में अंकित कुमार स्वयं को उसका पति बताकर उसे अपने साथ लेकर चला गया था तथा अंकित ने पुराने पेइंग गैस्ट से रिलीज कराने के बाद निवेदिता को दूसरे पेइंग गेस्ट शिफ्ट कर दिया था। जिसकी उन्हें जानकारी नहीं है। अंकित कुमार पर त्वरित कार्यवाही करने की कृपा करें ताकि पता चल सके कि निवेदिता के साथ वास्तविक घटना क्या हुई, जिससे उसकी मृत्यु हो गयी। प्रकरण को देखते हुए क्षेत्राधिकारी डालनवाला के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया और तत्काल अंकित कुमार चौधरी पुत्र जगपाल नि0 फन्दपुरी, थाना नकुड़ जिला सहारनपुर, उ0प्र0  को थाना कोतवाली नगर लाया गया और अंकित कुमार से सख्ती से पूछताछ करने पर उसके द्वार बताया गया कि मैं और निवेदिता लगभग 08 महीने से एक दूसरे को जानते थे तथा शादी करना चाहते थे। निवेदिता  पहले चुक्खुवाला में चकराता रोड के पास रहती थी जो 24.04.2021 को मेरे फ्लैट न0 306 रायल होम स्टे आईएमएस कालेज के पास रहने के लिये आ गयी थी और मेरी साथ ही रहने लग गयी। और दिनांक 28.04.2021 को रात्रि 12.00 बजे के आस-पास वह बालकोनी की ग्रिल पर बैठी थी कि अचानक नीचे गिर गयी मैं दौड़कर नीचे गया तो मैने देखा कि निवेदिता का एक हाथ टूट गया था तथा उसके सिर में चोट लगी थी व नाक से खून बह रहा था। कुछ देर बाद निवेदिता मुखर्जी की सांसे बन्द हो गयी और वह मर गयी जिसके देखकर मैं घबरा गया और मेरे द्वारा उसके शव को अपनी गाड़ी की डिग्गी में रखकर फ्लैट के नीचे चल रहे निर्माण कार्य वाले स्थल से कुछ लकड़िया अपनी गाड़ी की डिक्की में भर ली तथा शव को मसूरी की तरफ काफी दूर ले गया। मसूरी रोड पर एक सुनसान स्थान पर मैंने गाड़ी से पेट्रोल निकाल कर निवेदिता के शव को जला दिया और शव खाई में फेंक दिया उसके बाद मैं वापस देहरादून से आकर अपने गांव में ही रहने लगा। अंकित कुमार के विरूद्ध मु0अ0सं0 136/2021 धारा 302/201 भादवि बनाम अंकित कुमार पंजीकृत  कर विवेचना प्रारम्भ की गयी। और अंकित कुमार की निशानदेही पर मृतिका निवेदिता मुखर्जी के शव की बरामदगी हेतु अंकित कुमार व मृतिका के परिजानों को लेकर फील्ड यूनिट की टीम के साथ मसूरी किमाड़ी मार्ग पर पहुची जहां पर अंकित कुमार की निशानदेही पर मृतिका के सड़े-गले शव को बरामद किया गया। अभियुक्त अंकित कुमार को धारा 302/201 भादवि में गिरफ्तार कर मा0 न्यायालय के समक्ष रिमाण्ड हेतु पेश किया गया।

Published On: 06-06-2021